Indian sex story : Maami ki choot phadi


Indian sex story : Maami ki choot phadi

Indian sex story Maami ki choot phadi

Indian sex story presents चूत चुदाई की शुरूआत मामी के साथ
उस वक्त मैं भी साधारण लड़कों की तरह था जब मेरी मामी की उम्र 25 वर्ष रही होगी, साइज़ उनका कमोवेश ठीक ही था.. लेकिन वो गोरी ज्यादा हैं.. दिखती भी अच्छी हैं..एक बार मामी हमारे घर आई हुई थी, सब कुछ ठीक चल रहा था।उस दिन घर में कोई नहीं था, मैंने अपने फोन में पोर्न फ़िल्म डलवाई बाजार से.. मैं पहली बार पोर्न फ़िल्म देखने वाला था, तो बहुत उत्तेजित था।उस दिन बिजली भी नहीं आ रही थी.. तो हम दोनों लोग छत पर बैठे थे.. क्योंकि गर्मी के दिन थे।अब मामी के सामने मैं ब्लू-फिल्म कैसे देखता.. तो मैंने मामी से कहा- मैं नीचे जा रहा हूँ।तो उन्होंने कहा- ठीक है..मैं नीचे आ गया और तुरंत चालू करके देखने लगा। उसी वक्त मामी को प्यास लगी होगी.. तो उनको नीचे आता देख कर मैंने तुरंत फोन बन्द कर दिया।मामी ने कहा- अपना फोन दो ज़रा.. मुझे गाने सुनना है।
मैंने फोन दे दिया.. फिर सोचा कि उसमें जो है.. वो बता दूँ.. क्योंकि अगर बिना बताए.. मामी ने देख लिया तो मेरी फजीहत होगी।तो मैंने उन्हें बताया- मामी आज जब मैं गाने डलवाने गया था.. तो उसने एक गन्दी वाली फिल्म भी डाल दी.. अभी थोड़ी देर पहले ही मुझे पता चला है।तो वो सुन कर चुप रह गईं और कुछ नहीं बोलीं। थोड़ी देर बाद वापस आईं और बोलीं- दिखाओ वो फ़िल्म.. और तुम मत देखना.. तुम्हें नहीं देखनी चाहिए..मैंने कहा- क्यों.. मैं भी बस थोड़ी सी देखूंगा..वो मुस्कुरा दीं और बोली- अच्छा ठीक है आ जा..फिर हम वो फ़िल्म देखने लगे.. मुझे तो कुछ नहीं हुआ.. थोड़ी देर तक मगर मामी बड़े ध्यान से देख रही थीं.. थोड़ी देर बाद मुझे अहसास हुआ कि उनका जिस्म ऐंठ रहा है।मुझे शर्म आने लगी तो मैंने नज़र घुमा ली।कुछ देर बाद उन्होंने पूछा- कभी ऐसे किया है?मैंने कहा- पागल हो क्या मामी?तो उन्होंने बात घुमा दी.. फिर हम लेट गए और देखने लगे।तभी मुझे महसूस हुआ कि मामी की एक टांग मेरे लिंग पर रगड़ खा रही है और वो घूम कर मेरी तरफ लेट गई थीं।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !पहली बार उस दिन मैंने मामी की आँखों में इतनी करीबी से देखा था.. वासना उनकी आँखों में साफ दिख रही थी।मैंने भी उनका साथ देना शुरू कर दिया.. हालांकि मैं तब बिलकुल अनाड़ी था।मैंने मोबाईल बन्द कर दिया.. मुझसे उनके ब्लाउज के हुक नहीं खुल रहे थे। उन्होंने खुद खोल दिए मैं उनके मम्मों को चूमने लगा।उसके बाद उन्हें नीचे से भी खुद को नंगा कर दिया। अब हम दोनों एक-दूसरे को चूम रहे थे।तभी उन्होंने मेरा कच्छा हल्का सा खींच कर मुझे इशारा किया कि इसे उतारो..मैंने कहा- खुद ही उतार लो।जब मैं उनके ऊपर चढ़ा था.. तो उन्होंने अचानक से खींच दिया और मेरा लिंग सीधा उनकी योनि से टकरा गया।ना तो मैंने उनकी योनि चाटी और न उन्होंने मेरे लिंग को चूमा।तो मैं उनकी योनि पर अपना लिंग रगड़ रहा था और अन्दर डालने का असफल प्रयास कर रहा था।थक हार कर मैंने कहा- तुम ही डालो अन्दर..तो उन्होंने मेरा लिंग पकड़ा और छेद पर टिका दिया।मामी ने पहली बार मेरा लिंग पकड़ा था.. तो मुझे बहुत गुलगुली सी लगी।वहाँ बहुत गीलापन था.. मैंने थोड़ा सा धक्का मारा तो लण्ड अन्दर घुसता चला गया.. लेकिन पूरा नहीं गया था।मामी ने मुझे जोर से भींच लिया.. मेरा लिंग साधारण लम्बाई का है.. लगभग 5.6 इंच का ही होगा।मैं फिर आगे बढ़ता गया.. मुझे काफी जलन सी हो रही थी.. क्योंकि वो मेरा पहली बार था।जब हम सम्भोग कर रहे थे तो मामी ने कहा- यश.. ये बात कभी किसी से कहना मत..तो मैं बड़ी मासूमियत से बोला- मैं क्यों कहूँगा..इतना समझदार मैं भी था कि ये बातें किसी से नहीं बतानी चाहिए।फिर मैं तेज़-तेज़ धक्के मारने लगा.. मामी बिलकुल मुझे अपने अन्दर भर लेना चाहती हों.. मुझे ऐसा लग रहा था।अब मेरा वीर्य निकलने वाला था.. तो मैं खुद पर नियंत्रण नहीं कर पाया.. मैंने अन्दर ही माल गिरा दिया.. और बिलकुल चिपक गया उनसे..वो प्यार से मेरे बालों को सहला रही थीं.. और बोल रही थीं- पहली बार के हिसाब से तुम काफी अच्छे हो।मैं बस मुस्कुरा के रह गया।मेरे लिंग में अब भी जलन हो रही थी.. फिर हमने कपड़े पहने और अपने-अपने कमरों में चले गए.. लेकिन उस रात पूरी मुझे नीँद नहीं आई।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail